पूजा-अर्चना, भजन-संगीत के साथ मनाया दीपावली का पर्व

लाडनूँ, 9 नवम्बर 2023। जैन विश्वभारती संस्थान के शिक्षा विभाग में पूजा-अर्चना, गीत-संगीत व नृत्य केे साथ दीपावली पर्व मनाया गया। विभागाध्यक्ष प्रो. बीएल जैन ने कहा है कि पर्वराज दीपावली अंधकार से प्रकार की ओर बढने का संदेश देने के साथ ही यह आपसी मेल-मिलाप, प्रेम, नम्रता, मान-सम्मान, आदर-सत्कार आदि सद्गुणों का विकास करता है। उन्होंने बताया कि घृणा, ईष्र्या, द्वेष, अहंकार के उभरते भावों को लक्ष्मी के आगमन में बाधक माना जाता हैं। इन सभी दूषित विकारों से बचने में दीपावली का पर्व लाभकारी एवं उपयोगी हैं। उन्होंने बताया कि यह पर्व पांच दिनों तक लगातार मनाया जाता है। धनतेरस से शुरू होकर रूप चोदस या छोटी दीवाल, फिर दिवाली के बाद गोवर्धन पूजा और भैयादूज मनाई जाती है। इन पांचों पर्वो में सबमें अनेक विशेषताएं हैं। पर्वों के कारण ही भारती पूरे विश्व में अलग पहचान है। अंग्रेजी विभाग की अध्यक्ष प्रो. रेखा तिवारी ने दीपावली पर प्रसन्नचित्त रहने और सभी को खुश एवं आनंदित रखने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में दिव्या भास्कर व चंदा पारीक ने भाषण द्वारा अपने भावों को व्यक्त किया। मेहराज, रश्मि, नीलम ने नृत्य द्वारा, रेणु ने गायन प्रस्तुत किया। ऐश्वर्या सोनी एवं समूह ने भगवान राम का सुमधुर भजन पेश करके सबको मोहित किया। कार्यक्रम में डॉ. विष्णु कुमार, डॉ. सरोज राय, डॉ. आभा सिंह, डॉ. गिरिराज भोजक, डॉ. गिरधारी लाल, प्रमोद ओला, खुशाल जांगिड, स्नेहा शर्मा, दीपक माथुर एवं विद्याथीगर्ण उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन आरती पारीक ने किया एवं धन्यवाद ज्ञापन संयोजिका डॉ. अमिता जैन ने किया।

Read 1310 times

Latest from