शिक्षा विभाग में दीपावली पर भजनोत्सव का आयोजन

लाडनूँ, 25 अक्टूबर 2016। शिक्षा विभाग, जैन विश्व भारती संस्थान के अन्तर्गत एम.एड. एवं बी.एड. छात्राध्यापिकाओं हेतु दीपावली के उपलक्ष्य में भजनोत्सव का आयोजन किया गया। बी.एड. प्रशिक्षणार्थियों के सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास से जुड़े ऐसे पर्व एवं त्यौहारों का आयोजन विभाग में समय समय पर किया जाता है। आगामी पांच दिवसीय दीपोत्सव के महत्त्व को स्पष्ट करते हुए विशिष्ट अतिथि संस्थान के कुलसचिव श्री विनोद कुमार कक्कड़ ने कहा कि सकारात्मक चिंतन, जिज्ञासा एवं कर्मशीलता व्यक्तित्व के विकास हेतु परमावश्यक है। दीपावली जीवन में नवीनता, ऊर्जा और प्रेरणा का संचार करती है।

विभागाध्यक्ष, प्रो. बी.एल. जैन ने समस्त छात्राओं को शुभकामनाएँ प्रेषित करते हुए कहा कि गृहलक्ष्मी का सम्मान आज के युग की परम आवश्यकता है। दीपावली हमें आलस्य, उन्माद और अहंकार को त्याग कर कर्मशीलता, शुचिता एवं नियमितता को अपनाने की प्रेरणा देती है। डाॅ. बी. प्रधान ने दीपावली के महत्त्व पर प्रकाश डाला और छात्राओं को पर्यावरण मित्र दीपावली मनाने हेतु प्रेरित किया। डाॅ. अमिता जैन ने कहा कि दुर्गुणों और दुःखों की निवृत्ति करके जीवन में सम्पन्नता, आत्मबोध, समृद्धि की स्थापना ही दीपावली का प्रमुख उद्देश्य है।

डाॅ. गिरिराज भोजक ने भजन के माध्यम से छात्राओं को शुभकामनाएँ प्रेषित की। कार्यक्रम में एम.एड. एवं बी.एड. छात्राध्यापिकाओं ने भजन, नृत्य एवं कथानकों की प्रस्तुतियां दीं जिनमें अदिति एवं समूह, सोनाली, प्रीति स्वमी, हंसा कंवर व अनिता, केलम चैधरी, सरिता, प्रियंका व समूह, चंपा प्रजापत, पिंकी, नीलम, धर्मेशिखा, राधा मुंड, निरमा एवं सरिता आदि ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन एम.एड. छात्रा रागिनी शर्मा ने किया।

Read 725 times

Latest from joomlasupport