क्षेत्रीय गणमान्य नागरिकों के साथ संगोष्ठी आयोजित

जैन विश्वभारती विश्वविद्यालय में स्मार्ट क्लासेज इसी माह से - प्रो. दूगड़

लाडनूँ, 23 दिसम्बर, 2016। जैन विश्वभारती संस्थान में लाडनूँ उपखण्ड क्षेत्र के प्रमुख गणमान्य नागरिकों के साथ संस्थान के माननीय कुलपति प्रो. बी.आर. दूगड़ की अध्यक्षता एवं मातृ संस्था जैन विश्वभारती के अध्यक्ष श्री रमेशचन्द बोहरा की उपस्थिति में कुलपति सम्मेलन-कक्ष में शुक्रवार को संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी को संबोधित करते हुए माननीय कुलपति प्रो. बच्छराज दूगड़ ने कहा कि इस विश्वविद्यालय में इसी दिसम्बर माह से स्मार्ट क्लासेज का प्रारम्भ किया जा रहा है। प्रारम्भ में ऐसी करीब एक दर्जन कक्षाएँ प्रारम्भ होंगी, जिनमें कम्प्यूटर के जरिये पढाई करवाई जायेगी। उन्होंने बताया कि ऐसी स्मार्ट कक्षाएँ पिलानी के बिट्स के अलावा राजस्थान में आस-पास कहीं भी नहीं हैं। उन्होंने संगोष्ठी में जानकारी दी कि विदेशों में परीक्षा का जो पैटर्न होता है, उसी पैटर्न को यहां आगामी सत्र से प्रारम्भ किया जायेगा, जिससे विद्यार्थियों पर भार कम हो जायेगा। प्रो. दूगड़ ने छोटे-छोटे कोर्सेज के माध्यम से कम अंक लाने वाले विद्यार्थियों को अपने अंक बढ़ाने एवं अपने रुचि के विषयों का अध्यापन करने का माध्यम भी प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि कम्प्यूटर कोचिंग के लिये तीन कोर्स लघु-अवधि के जनवरी माह से शुरू किये जा रहे हैं। हम यहां एक ऐसा स्टुडियो भी विकसित करने जा रहे हैं, जिसमें सभी विषयों के व्याख्यानों की संबंधित विषय विशेषज्ञें के द्वारा रिकाॅर्डिंग करवाकर उनका डिजिटलाईजेश किया जाएगा, जिन्हें भविष्य में इण्टरनेट पर अपलोड किया जायेगा तथा ऐसे तैयार लैक्चरों को अन्य विश्वविद्यालयों को भी प्रोवाईड करवाया जायेगा।

लाईब्रेरी को एनसाईक्लोपीडिया से किया जायेगा सम्पन्न

माननीय कुलपति महोदय ने बताया कि विश्वविद्यालय की विशाल लायबे्ररी का भी डिजीटलाईजेशन किये जाने की योजना पर काम हो रहा है। इसके अलावा लाईब्रेरी के लिये 400 एनसाईक्लोपीडिया भी खरीदे जा रहे हैं, जो विश्व स्तर की हर प्रकार की जानकारी के लिये उपयोगी होंगे तथा शोधकार्यों में उनका प्रयोग हो सकेगा। इसके बाद यह लाईब्रेरी अद्वितीय हो जायेगी। प्रो. दूगड़ ने आयुर्वेद, हौमयोपैथिक व नैचुरोपैथिक चिकित्सा पद्धतियों के शिक्षण के लिये मेडिकल कॉलेज खोले जाने की इस क्षेत्र में आवश्यकता बताई। उन्होंने कहा कि इसके लिये कार्य-योजना तैयार की जाकर इस पर प्राथमिकता से काम किया जायेगा। उन्होंने पर्सनैलिटी डेवलपमेंट, लीडरशिप डवलपमेंट, खेलकूद व अन्य सह-शैक्षणिक गतिविधियों को बढ़ावा देने की योजनाओं की जानकारी भी दी। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के नागरिकगण विश्वविद्यालय के विकास के बारे में सुझाव देंगे तो उन पर अमल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि यूजीसी को उनके माध्यम से लिखे गये पत्रों से इस विश्वविद्यालय में अनेक नये कार्यक्रम शुरू किये जा सकते हैं। प्रो. दूगड़ ने बताया कि आगामी 19 से 21 जनवरी तक यूजीसी की टीम यहां आयेगी, उस समय आपको उनसे मिलकर इस क्षेत्र की आवश्यकताओं से अवगत करवायें।

विद्यार्थियों की क्षमता बढ़ाने के प्रयास

इस संगोष्ठी में जैन विश्व भारती के अध्यक्ष रमेशचंद बोहरा ने विश्वविद्यालय के विकास के लिये कामना व्यक्त की। विश्वविद्यालय के कुलसचिव विनोद कुमार कक्कड़ ने कैरियर कौंसलिंग, पर्सनैलिटी डेवलपमेंट, इंटरव्यू की तैयारी, इंग्लिश स्पोकन कोर्स, शोर्ट टर्म एडवांस कम्प्यूटर कोर्स, म्यूजिक कोर्स, होबीज के कोर्सेज आदि क्षमता बढ़ाने एवं सर्वांगीण विकास के कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के निदेशक प्रो. आनन्दप्रकाश त्रिपाठी ने प्रारम्भ में सभी नागरिकों का स्वागत करते हुये उन्हें विश्वविद्यालय की जानकारी दी तथा बताया कि पूरे कैम्पस के वाई-फाई होने, छात्रावास की पृथक्-पृथक् व्यवस्था, लाईब्रेरी, बी.एस-सी.-बी.एड. व बी.ए.-बी.एड. के चारवर्षीय कार्यक्रमों, विद्यार्थी के सर्वांगीण विकास के लिये संचालित विभिन्न गतिविधियों आदि की जानकारी दी। डाॅ. वीरेन्द्र भाटी मंगल ने सभी का परिचय करवाया।

इन्होंने भी रखे विचार

संगोष्ठी में नगरपालिका के उपाध्यक्ष भाणूं खां टाक, एडवोकेट ओमप्रकाश प्रजापत, देवाराम पटेल, पार्षद् विजय कुमार भोजक, ललित वर्मा, रामनिवास शर्मा, चांद कपूर सेठी, लक्ष्मीपत बैंगानी, भाजपा के जिला मंत्री नितेश कुमार माथुर, खींवाराम घिंटाला, किरण बरमेचा, रामनारायण सोनी, शहर काजी सैयद मो. अयूब अशरफी आदि ने अपने विचार व्यक्त करते हुये अनेक सुझाव प्रस्तुत किये। संगोष्ठी में वित्ताधिकारी आरके जैन, उप कुल सचिव नेपाल चंद गंग, भाजपा शहर अध्यक्ष हनुमानमल जांगिड़, जिला स्तरीय सतर्कता एवं निगरानी समिति की सदस्य सुमित्रा आर्य, नगर पालिका के पूर्व उपाध्यक्ष याकूब शेख, सुशील पीपलवा, राजेश खटेड़, अनिल पहाडिया, जौहरीमल दूगड़, शांतिलाल बैद, चैथमल किल्ला, प्रधान प्रतिनिधि प्रताप सिंह कोयल, निम्बी जोधां के सरपंच श्याम सुन्दर पंवार, तेजसिंह जोधा, सुनीता बैद आदि उपस्थित थे।

Read 974 times

Latest from