जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के समाज कार्य विभाग के तत्वावधान में राष्ट्रीय वेबिनार आयोजित

महिलाओं की स्थिति में सुधार के आंदोलनों को सम्बल मिले - प्रो. अश्विनी कुमार

लाडनूँ, 9 मार्च 2021। जामिया मिल्लिया इस्लामिया नई दिल्ली के समाज कार्य विभाग के आचार्य डाॅ. अश्विनी कुमार ने कहा है कि वैश्विक परिदृश्य में महिलाओं के साथ आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक स्तर पर काफी विषमताएं रही हैं, जिन्हें दूर करना ही उनका दिवस मनाए जाने की सफलता होगी। वे जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के समाज कार्य विभाग के तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय वेबिनार में मुख्य वक्ता के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने नारी आंदोलनों को एकांगी बताते हुए कहा कि सर्वांगीण सोच के साथ महिलाओं की स्थिति में सुधार के प्रयासों को सम्बल मिलना चाहिए। लखनऊ विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग के प्रोफेसर अनूप कुमार भारतीय ने महिलाओं की स्थिति में परिवर्तन के लिए मन, मस्तिष्क, व्यवहार और मनोवृति में परिवर्तन लाने की आवश्यकता बताई। खुजा बुलंदशहर की वरिष्ठ सहायक आचार्या डाॅ. गीता सिंह ने सामाजिक-सांस्कृतिक पृष्ठभुमि में महिलाओं के प्रति भेदभाव एवं सामाजिकरण की भिन्नता से उबारने को महत्वपूर्ण आवश्यकता बताया और कहा कि महिलाओं के प्रति सभ्य व्यवहार किसी पूजा से कम नहीं होता है। प्रारम्भ में विभागाध्यक्ष डाॅ. बिजेन्द्र प्रधान ने सभी अतिथियों व वक्ताओं का स्वागत किया। अंत में सहायक आचार्य डाॅ. विकास शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापित किया। वेबिनार का संचालन डाॅ. पुष्पा मिश्रा ने किया।

Read 672 times

Latest from